मेरे प्यारे भाइयो आज मैं "जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय और साहित्यिक परिचय शॉर्टकट में" बताने वाला हु. मैं आज आप सभी को जयशंकर प्रसाद का जन्म कब हुआ था और मृत्यु कब हुआ था से लेकर जयशंकर प्रसाद का जन्म कहा हुआ था यह सब बताने वाला हु.

यदि आप लोग भी Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Tatha Sahityik Parichay Pdf Download Class 10th and 12th का चाहते है तो इसे अंत तक पढ़िए. मैं आपको अंत तक इसका जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय का पीडीऍफ़ देने वाला हु जिसे आप लोग आसानी से डाउनलोड करके अपने मोबाइल में रख सकते है.

आप इस ब्लॉग से और भी स्टडी मैटेरियल पढ़कर अपनी तैयारी को एक नयी रफ़्तार दे सकते है. मैंने बहुत सारे कवियों का जीवन परिचय और साहित्यिक परिचय को बता दिया है. अगर आप पढना चाहते है तो निचे लिंक मिल जाएगी आप लोग पढ़ सकते है.

Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay
Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay

मैं आज आप सभी के समक्ष Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Shortcut Mein प्रस्तुत करूँगा जिसे आप मात्र दो से तीन बार अच्छे से पढ़ लेंगे तो आपको यह तैयार हो जायेगा.

यदि आप लोग इसे तैयार कर लेंगे तो आपके बोर्ड में अच्छे अंक आने की संभावना और बढ़ जाएगी. क्योंकि यह बोर्ड में लगभग हर वर्ष पूछा जाता है. आप पिछले कुछ वर्षो का पेपर लेकर देख सकते है की कितनी बार यह पूछा जा चूका है.

इसे भी पढ़े:

डॉ वासुदेव शरण अग्रवाल जी का जीवन परिचय एवं साहित्यिक परिचय, कृतियाँ रचनाये

आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी जी का जीवन परिचय, साहित्यिक परिचय एवं कृतियाँ

प्रो. जी. सुन्दर रेड्डी का जीवन परिचय, साहित्यिक परिचय एवं कृतियाँ


लेकिन दिक्कत तब आती है जब आपके सामने इतनी लम्बी - लम्बी जीवन परिचय आता है. इसलिए मैंने आपको Jaishankar Prasad Ka Jeevan Parichay Shortcut Mein में दिया है. आप लोग ऐसा मत सोचियेगा की इससे अंक कटेंगे. 

ऐसा बिलकुल भी नहीं है मैंने आवश्यकता अनुसार हर एक चीज बताई है जोकि आपके बोर्ड एग्जामीनर चेक करता है.

सरल शब्दों में जानिए 'जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय लिखिए या दीजिये' - Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Shortcut Mein Pdf Download Class 10th and 12th

दोस्तों हमने बहुत बाते कर लि है चलिए अब हम अपने मुद्दे पर आते है और जानते है की Jaishankar Prasad Ka Janam Kab Hua Tha Aur Mrityu Kab Hui Thi साथ ही इनके जन्म स्थान कहा थे.

हम आपको जयशंकर प्रसाद के माता - पिता का क्या नाम था यह भी बताएँगे. बस आप इसे पूरा पढ़िए. आपको अंत तक आपके सारे डाउट क्लियर हो जायेंगे.

चलिए अब हम लोग Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay के बारे में विस्तार से जान लेते है जोकि सबसे सरल शब्दों में है. आपको याद करने में कही भी कठिनाई नहीं होगी इसकी गारंटी मैं लेता हु.

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय (Jaishankar Prasad Ka Jeevan Parichay): जयशंकर प्रसाद का जन्म सन् 1889 ई० में काशी के एक प्रतिष्ठित वैश्व परिवार में हुआ था. जयशंकर प्रसाद के पिता के नाम देवी प्रसाद था.

बचपन में ही इनकी पिता की मृत्यु हो जाने के बाद इनकी प्रारम्भिक शिक्षा घर पर ही सम्पन्न हुई. घर पर ही इन्होने हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू तथा फारसी का गहन अध्ययन किया.

ये बड़े मिलनसार, हँसमुख तथा सरल स्वभाव के व्यक्ति थे. इनका सारा खर्च इनके बड़े भाई शम्भू नाथ जी देते थे. मात्र 17 वर्ष के अवस्था में ही इनके बड़े भाई का भी देहांत हो गया. 

इनकी तीन शादियाँ हुई और तीनो पत्नियों की मृत्यु हो गयी. सभी लोगो के मृत्यु हो जाने के कारण इनका ह्रदय टूट गया और इनकी आर्थिक स्थिति भी ख़राब हो गयी.

यह कर्ज के बोझ में भी डूब गए. अल्पावस्था में ही जयशंकर प्रसाद क्षय रोग से ग्रस्त हो गए जिसके कारण इनकी मृत्यु 14 नवम्बर सन् 1937 ई० में ही हो गयी.

दोस्तों यह पूरी हुई आपकी जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय कक्षा 10 का और 12 का और मैं अब आपको आगे जयशंकर प्रसाद की रचनाएँ भाषा शैली साहित्य में स्थान तथा साहित्यिक परिचय बताने वाला हु.

अब आप लोग उपर पढ़ चुके है की जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय शॉर्टकट में ही मैंने आपको दिया है जिसे आप आसानी से याद कर सकते है. अब मैं आपको Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Pdf Download कैसे करना है यह भी अभी थोड़ी देर में  बता दूंगा.

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय कक्षा 12 में भी है हाईस्कूल में भी है. इसलिए यदि आप हाईस्कूल के स्टूडेंट्स है तो इसे अच्छे से तैयार कर लीजिये ताकि आपको इंटरमीडिएट में याद न करना पड़े.

यह सब बाते आपको कोई नहीं बताएगा. लेकिन मैं आपको हर एक टॉपिक में बताता हु की यह आगे आपको कहा - कहा काम आएगी. आप लोग Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Kaksha 12 में अवश्य देखेंगे इसलिए इसे अभी से आप पुरे मन से याद कीजिये.

मैंने आपको जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय संक्षिप्त में बता दिया है आप लोग इसे अपने नोट्स में जरुर लिख ले.

वैसे भी मैं आपको जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय क्लास 12 और 10 दोनों के लिए एक पीडीऍफ़ दूंगा जिसमे जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय एवं साहित्यिक परिचय के साथ - साथ रचनाये एवं कृतियाँ रहेंगी.

जो लोग अभी हाईस्कूल में है उन्हें सिर्फ जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय लिखिए इतना ही बोला जायेगा. इसलिए वह अभी इतना ही तैयार करेंगे. लेकिन जो लोग इंटरमीडिएट के छात्र है उन्हें सब तैयार करना है.

मुझे उम्मीद है की आप लोगो को जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय क्या है इसका जवाब मिल गया है. यदि आप साहित्यिक परिचय के बारे में जानना चाहते है तो आप इसके लिए हमारी दूसरी हेडिंग से पढना शुरू कर सकते है, तब तक मैं कुछ जरुरी बाते बता देता हु.

आप लोगो का काफी दिनों से मन था की मैं Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Bataiye के उपर लेख लिखू इसलिए मैंने आज आपको यह बता दिया है. अब आप लोग अपनी तैयारी को जारी रख सकते है.

चलिए अब हम लोग जो स्टूडेंट्स Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Inter Ka चाहते है उनके लिए साहित्यिक परिचय बता देते है और उसके बाद से रचनाये या कृतिया को बताएँगे.

आसान भाषा में 'जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय दीजिए' - Jaishankar Prasad Ka Sahityik Parichay Class 12 Pdf Download

दोस्तों हमने उपर Jay Shankar Prasad Ka Jivan Parichay In Hindi में जान लिए है. अब हम लोग अपने बाकी के बचे टॉपिक जयशंकर प्रसाद साहित्यिक परिचय के बारे में जानेंगे.

मैं आपको जीवन परिचय के तरह जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय शॉर्ट में ही बताऊंगा जिससे आपको और आसानी रहेगी याद करने में. आपको अंत में पीडीऍफ़ भी दूंगा जिसे आप लोग डाउनलोड कर लीजियेगा.

चलिए अब हम आपके सामने Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Sahitya Parichay प्रस्तुत करते है. हम आज आपको सबसे बेहतरीन जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय इन हिंदी में देंगे जिसे देखकर आप भी खुश हो जायेंगे.

आपमें से बहुत सारे लोगो का यह कहना है की हम जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय कैसे लिखें तो मैंने उनसे कहना चाहूँगा की मैं आपको जो बता रहा हु उसे ही आप लिखे. 

बस आपको ध्यान देना है की आपको एग्जामीनर के सामने इतने अच्छे से जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय प्रस्तुत करें की वह संतुष्ट हो जाये. मैंने आपको इसी में जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक योगदान भी बता दिया है. चलिए अब हम मुद्दे पर आते है.

जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय (Jai Shankar Prasad Ka Sahityik Parichay Dijiye): जयशंकर प्रसाद छायावाद के प्रवर्त्तक, उन्नायक तथा प्रतिनिधि कवी होने के साथ - साथ युग प्रवर्त्तक नाटककार, कथाकार और उपन्यासकार भी थे. 

जयशंकर प्रसाद जी को इनकी विशिष्ट रचना 'कामायनी' पर 'मंगलाप्रसाद पारितोषिक' भी मिल चूका है. इन्होने साहित्य के क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. 

यह हमेशा साहित्य के सेवा में लगे रहे. इनकी कई रचनाओ में इनको पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है. इन्होने पूरी निष्ठां से साहित्य की पूजा की है. इन्होने अपनी रचनाओ में अच्छे शब्दों का प्रयोग करके अपने कवी प्रेमियों के दिल को जीता है.

जयशंकर प्रसाद का साहित्य में स्थान अथवा साहित्यिक योगदान: जयशंकर प्रसाद जी का साहित्य में विशिष्ट स्थान एवं योगदान है. इन्होने अपनी प्रतिभा से हिंदी जगत को जगमग किया है. 

दोस्तों यदि आप लोग Jaishankar Prasad Ka Sahityik Parichay Pdf Download करना चाहते है तो आपको क्लिक हियर पर क्लिक करना है. आपका यह पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड हो जायेगा.

मैं अब आशा करूँगा की आपको Jaishankar Prasad Ka Sahityik Parichay Class 12 का मिल गया है. मैं आपको सिर्फ़ अब इनकी रचनाये एवं कृतिया को बताने वाला हु. यदि आप पीडीऍफ़ डाउनलोड कर लेंगे तो आपको उसमे सब मिल जाएगी.

यदि अब आपको कोई भी बोले की Jai Shankar Prasad Ka Sahityik Parichay Likhiye तो आप इसे ही लिखियेगा. मैंने यह बहुत मेहनत करके आपके लिए सबसे सरल शब्दों में तैयार किया है. 

बोर्ड एग्जाम इंटरमीडिएट में यह लगभग 5 अंक में कवी के जीवन परिचय के अंतर्गत आता है. हाईस्कूल में भी यह 3 अंक में आता है. लेकिन वह पर सिर्फ जीवन परिचय खास तौर पर पूछा जाता है.

दोस्तों यदि आप लोग Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay Class 12 और 10 का पीडीऍफ़ डाउनलोड करना चाहते है तो आपको निचे एक क्लिक हियर का आप्शन दिख रहा होगा बस आपको वही पर क्लिक करना है.

पीडीऍफ़ डाउनलोड करे: Click Here

अब आपको jaishankar prasad ka jeevan parichay sahityik parichay दोनों मिल गया होगा. इसलिए मैं अब आपको रचना बताने जा रहा हु. मुझे विश्वास है की अब आप जयशंकर प्रसाद का साहित्यिक परिचय दीजिए ऐसा आपसे कभी भी पूछा जाये तो आप दे देंगे.

जयशंकर प्रसाद की रचनाएँ या कृतियाँ बताईये - Jaishankar Prasad Ki Rachnaye Trick 

दोस्तों चलिए अब हम लोग जयशंकर प्रसाद की काव्य कृतियाँ के बारे में जान लेते है ताकि हम लोगो का यह टॉपिक पूरा हो जाये. यदि आपको अंत तक कही भी डाउट रह जाती है तो आप कमेंट में बता सकते है.

मैं आपको किसी दिन Jaishankar Prasad Ki Rachna Yaad Karne Ki Trick भी बता दूंगा. यदि आप चाहते है की मैं यह अभी बताऊ तो इसके लिए आपको निचे कमेंट में मुझे बताना होगा. 

मैं ऐसा इलिए बोल रहा हु ताकि मुझे पता लग सके की मैं इतना मेहनत कर रहा हु तो आप सभी के पास अच्छे से पहुच रही है भी या नहीं. मैं आपको जल्द ही Jaishankar Prasad Ki Rachnaye Trick के साथ अच्छे से समझा दूंगा.

जयशंकर प्रसाद की रचना अथवा कृतियाँ: जयशंकर प्रसाद की रचनाये निम्नलिखित है -

काव्य: आँसू, चित्राधार, लहर, झरना, कानन कुसुम, प्रेम पथिक.

महाकाव्य: कामायनी.

नाटक: चन्द्रगुप्त, स्कंदगुप्त, जन्मेजय का नागयज्ञ, कामना, एक घूँट, राज्यश्री, कल्याणी, अजादशत्रु और प्रायश्चित.

उपन्यास: कंकाल, तितली, इरावती.

निबन्ध: काव्य और कला.

कहानी संग्रह: आकाशदीप, इंद्रजाल, प्रतिध्वनि, आँधी.

आशा है मित्रो आपको Jaishankar Prasad Ki Kritiyan समझ में आ गयी है और आपने इसे अपने नोट्स में लिख लिए होंगे. आप यदि इतना लम्बा चौड़ा देख कर परेशान हो रहे है तो मैं आपको बता दू की परेशान होने की जरूरत नहीं है.

आपको मैंने पूरा बस इस लिए बातया है की अगर यह बहुविकल्पीय में आये तो आपको याद रहे. बाकी तो आपको Jaishankar Prasad Ki Rachna मात्र कुछ ही लिखनी है. आपको पूरा लिखने की जरुरत नहीं है.

आशा है अब आप अपने टीचर द्वारा जयशंकर प्रसाद की रचना बताइए पूछे जाने पर तुरंत जवाब दे देंगे. मैं ऐसे ही आपके लिए महत्वपूर्ण प्रश्नों का उत्तर लाता रहूँगा.

आशा है आप सभी को "जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय और साहित्यिक परिचय शॉर्टकट में" काफी पसंद आया होगा और इसे आप अपने सभी मित्रो के पास शेयर जरुर करेंगे.

आप लोगो से निवेदन है की आप सभी लोग 'Jaishankar Prasad Ka Jivan Parichay tatha Sahityik Parichay Pdf Download' करके पढना शुरू कर डे. अगर आपको कही भी दिक्कत आ रही है तो निचे कमेंट कीजिये.